देश-विदेश

पंजाब में जहरीली शराब से 104 लोगों की गई जान, बसपा सुप्रीमो मायावती ने दी ये सलाह …

लखनऊ। जहरीली शराब पीने से पंजाब में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। तरनतारन जिले में रविवार को सबसे ज्यादा 17 लोगों की मौत हुई, जबकि एक व्यक्ति गुरदासपुर के बटाला का था। इस मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को सीबीआई जांच की मांग की थी। वहीं, अब बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो बहन सुश्री मायावती ने घटना पर गहरा दु:ख और पीड़ित परिवार के प्रति भारी संवेदना व्यक्त करते हुए पंजाब सरकार को सलाह दी है।

बहन मायावती ने दी ये सलाह

बहन मायावती ने सोमवार की सुबह ट्वीट किया, ‘पंजाब में जहरीली शराब पीने से अब तक लगभग 100 लोगों की मौत हो चुकी है, जो अति-दुःखद व पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना। पंजाब की कांग्रेस सरकार को वहां राज्य में तुरन्त अवैध शराब के काले धंधे को बन्द कराना चाहिए, वरना और भी लोगों की जानें जा सकती है, बीएसपी की यह सलाह है।’ बता दें, राज्य में रविवार को जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़कर 104 हो गई।

मृतकों की संख्या हुई 104

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ट्वीट किया, ‘त्रासदी में मरने वालों की संख्या 104 हो गई है। तरनतारन में 80 लोगों की मौत हुई है, जबकि गुरदासपुर के बटाला और अमृतसर में 12-12 लोगों की जान जहरीली शराब पीने से गई है। आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने तरनतारन जिले में मृतकों के परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की।

मस्जिट्रेट जांच के आदेश

इस मामले में पंजाब सरकार पहले ही मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे चुकी है। सीएम अमरिंदर सिंह ने शनिवार को छह आबकारी और सात पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया था। उन्होंने पुलिस और आबकारी विभाग के जहरीली शराब के उत्पादन और बिक्री पर रोक नहीं लगा पाने को शर्मनाक करार दिया था। राज्य सरकार की ओर से मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए का मुआवजा देने की भी घोषणा की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close