देश-विदेश

चंबल नदी में पलटी नाव, 50 लोग थे सवार, कमलेश्वर धाम जाते हुआ हादसा, महिलाओं और बच्चों की आवाज से आसपास मचा कोहराम | news-forum.in

जयपुर |  राजस्थान के कोटा जिले से एक बड़ी घटना होने की जानकारी समाने आ रही है। खबर के मुताबिक राजस्थान के कोटा जिले के नजदीक चंबल नदी में एक नाव पलट गई। इस नाव में करीब 50 लोग के अलावा इसमें कुछ सामान और वाहन भी रखे हुए थे।

 

यह लोग नाव के जरिए कमलेश्वर धाम बूंदी एरिया में जा रहे थे। अचानक से जब नाव पलट गई तो, इसमें सवार महिलाएं बच्चे और लोग नदी में डूबने लग गए। हादसे की स्थिति में बचाव के कोई साधन उपलब्ध नहीं होने के कारण वहां चीख-पुकार की स्थिति निर्मित हो गई। महिलाओं और बच्चों के शोर से आसपास कोहराम मच गया।

 

आसपास के लोग प्रयास करते रहे

आनन-फानन में आसपास के लोगों नदी में डूब रहे लोगों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं कुछ लोगों की मौत होने की भी संभावना जताई जा रही है। मौके पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी पहुंचे हैं। घटना सुबह 8 बजे की बताई जा रही है। इस संबंध में लोक सभा स्पीकर ओम बिरला ने भी चिंता जताई है।

 

कोटा से एसडीआरएफ टीम रवाना

लोकसभा सचिवालय ने जिला प्रशासन से इस संबंध में संपर्क साधा और कोटा से एसडीआरएफ टीम को मौके के लिए रवाना करवाया है। आसपास के एरिया में मचा कोहरामनाव डूबने के बाद कोहराम उस इलाके में मच गया महिलाएं और बच्चे बचाने के लिए चिल्लाने लगे। साथ ही अपने आप को डूबने से बचाने के लिए भी नदी में संघर्ष करते रहे।

 

किसी भी तरह की कोई सुविधा मौजूद नहीं

हालांकि वहां पर किसी भी तरह की कोई सुविधा मौजूद नहीं थी। इसके अलावा उन महिलाओं और बच्चों को किनारे तक लाने के लिए भी कोई व्यवस्था नहीं थी। इसके लिए प्रशासन ही जिम्मेदार माना जा रहा है। क्योंकि इस तरह से अवैध रूप से नावों का संचालन तो किया जा रहा है, लेकिन किसी भी प्रकार हादसे से बचाव के लिए कोई उपकरण या टीम वहां पर तैनात नहीं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close