छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ी फिल्मकार जीपी शेंडे की बालविवाह पर आधरित टेलीफिल्म ‘बिटिया’ बनकर तैयार, जल्द होगी रिलीज | news-forum.in

मस्तूरी | टेलीफिल्म बिटिया का फिल्मांकन छत्तीसगढ़ के जाने-माने फिल्मकार निर्माता-निर्देशक जीपी संडे द्वारा किया गया है। फिल्म की पटकथा सनत बंजारे द्वारा लिखी गई है। इस फिल्म के माघ्यम से सामाजिक बुराई बालविवाह पर तीखा प्रहार किया गया है। फिल्म में बालविवाह की कुप्रथाओं को बहुत करीब से बताया गया है। यह बाल मन पर होने वाले दुष्प्रभावों को भी बताता है और समाज में जनजागृति लाने वाली फिल्म है। न्यूज फोरम {news-forum.in} से फिल्म निर्माता जीपी सांडे ने विशेष बातचीत की।

 

इस फिल्म की मुख्य अदाकारा अंजना दास जी हैं। फिल्म में उनका किरदार एक चुलबुली लड़की का है। जो लड़की होते हुए भी खुदको लड़के से किसी भी प्रकार कम नहीं समझती है। फिल्म में बालविवाह को रोकने व महिला शिक्षा को बढ़ावा देने की बात बहुत ही अच्छे ढंग से बताई गई है। फिल्म के माध्यम से निर्माता ने समाजिक बुरई पर कुठाराघात किया है जो मील का पत्थर साबित होगी।

 

छत्तीसगढ़ के जाने-माने फिल्मकार निर्माता-निर्देशक जीपी संडे सामाजिक विषयों पर फिल्म बनाने के लिए जाने जाते रहे हैं। उन्होंने इसके पूर्व ‘राखी के प्रीत’ नामक फिल्म बनाई है। फिल्म बनकर तैयार है, लेकिन लॉकडाउन की वजह से यह थियेटर तक नहीं पहुंच पाई है। जल्द ही इस फिल्म थियेटर पर रिलीज होने वाली है।

 

फिल्म बिटिया में छोटी उम्र में होने वाली शादी के बारे में बहुत करीब से बताया गया है। उन्हें किस प्रकार शारीरिक व मानसिक यातना झेलनी पड़ती है यह इस फिल्म में बताया गया है। उन्होंने छोटी उम्र में होने वाली शादी और उससे होने वाले दुष्प्रभावों का सफल फिल्मांकन किया है। सामाजिक बुराई पर तीखा प्रहार करती यह फिल्म जल्द ही थियेटर पर दिखाई देगी और लोगों पर गहरे तक प्रभाव छोड़ेगी।

 

टेलीफिल्म ‘बिटिया’ के निर्माता-निर्देशक जीपी संडे व पटकथा लेखन सनत बंजारे का है। फिल्म की शूटिंग मस्तूरी ब्लॉक के भुरकुंडा क्षेत्र में की गई। जिसे देखने बडी संख्या में लोगों की भीड़ मौजूद रही। पूरी फिल्म की शूटिंग एक ही जगह में होने के कारण स्थानीय लोगों को अपना अंचल थियेटर के बड़े पर्दे पर देखने का मौका मिलेगा तो वहीं इस क्षेत्र में तेजी से रोजगार के पनपने की संभावना भी जताई जा रही है।

 

यह शर्ट मूवी महिलाओं के अधिकार पर आधारित है। इसमें सहभागी कलाकार प्रेम बर्मन, अंजना दांत, पूजा बंसोड़, माधुरी नेताम, गीत-संगीत व एक्शन में रमेश चौहान का है।

 

©मस्तूरी से राम गोपाल भार्गव की रपट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close