छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ का पहला सोलर पैनल लगेगा मस्तूरी के जनपद पंचायत ग्राम भड़हा में | news-forum.in

मस्तूरी | बिलासपुर के जिला जनपद पंचायत मस्तूरी अंतर्गत ग्राम पंचायत रैलहा के आश्रित ग्राम भाडहा में पीएस विभाग की ओर से सौर पैनल से स्थापित कर पानी की सप्लाई की जाएगी। सौर पैनल की स्थापना से ग्राम भाडहा में पानी की समस्या से निजात मिलेगी और लोगों को घर पहुंचाकर पानी दिया जाएगा। क्षेत्र में योजना का काम युद्ध स्तर पर जारी है।

 

 

सोलर पंप से होगी सप्लाई

आश्रित ग्राम भडहा में ज्यों-ज्यों गर्मी बढ़ती जाती है लोगों को पानी समेत निस्तारी की समस्या घेरने लगती है। यहां निस्तारी की बात तो छोड़ ही दीजिए, पीने के लिए गिलास भर साफ पानी मिल जाए यही बहुत है। गांव में कुछेक घरों में बोर लगे हैं, उन्हीं से पीने लायक पानी मिल जाता है। जिससे गर्मी में काम चलाने लायक पानी मिल जाता है।

 

शासन से मिली स्वीकृति

गांव में हर वर्ष पानी को लेकर हो रही विकराल समस्या होती थी। ग्राम वासियों को तपती दुपहरी में पानी के लिए जद्दोजहद करता देख ग्राम सरपंच के बरबस आंसु निकल जाया करते थे, वे अक्सर सोचतीं कि ऐसा क्या किया जाए जिससे गांव में पानी की समस्या हमेशा-हमेशा के लिए समाप्त हो जाए। इसी उधेड़-बुन के बीच उन्होंने अखबार में छपी खबर को देखा और इसे ग्रामसभा की बैठक में रखा। बैठक में इसे लेकर सभी की सहमति मिलने के बाद ग्राम सरपंच संतोषी पटेल द्वारा योजना का प्रारूप तैयार कर राज्य शासन को भेजा गया था। जिसे थोड़े से प्रयास के बाद स्वीकृति मिल गई।

 

छत्तीसगढ़ का पहला ग्राम पंचायत

इस योजना की शुरूआत छत्तीसगढ़ में सबसे पहले ग्राम पंचायत रैलहा में शुरू किया गया। ताकि लोगों को पीने का साफ पानी मिल सके और निस्तारी की समस्या से होकर न गुजरना पड़े। गांव में निर्धारित स्थान पर भूमिपूजन उपरांत काम शुरू किया गया। जिसमें विकासखंड मस्तूरी के ग्राम पंचायत रैलहा सरपंच श्रीमती संतोषी पटेल, सरपंच प्रतिनिधि विक्रम पटेल, उपसरपंच अरविंद डेहरिया, पंच देवेन्द्र कुर्रे, पंच बलदाऊ रात्रे, पंच राम सहारा सोनी, पंच मंजू ठाकुर, परदेसी पटेल, कार्तिक जगत, प्रेम सोनवानी आदि उपस्थित थे।

पत्थर आने पर रुका काम

भूमिपूजन के बाद सोलर पैनल स्थापित करने काम तेज गति से चलने लगा। इस कार्य को करने के लिए पोकलेन सहित बड़ी मशीनें लगी हुई है। इसे देखने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ निर्धारित स्थान पर लगी रहती है। इस बीच अचानक काम बंद हो गया। सरपंच पति डॉ. बिंदराम पटेल ने बताया कि खुदाई के दौरान नीचे एक बड़ा पत्थर आ गया है। जिसे पोकलेन हटाने में नाकामयाब है। इसे हटाने के लिए अब बड़ी मशीन बुलाई जाएगी जिसके बाद ही आगे का काम शुरू हो पाएगा।

 

 

©मस्तूरी से राम गोपाल भार्गव की रपट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close