देश-विदेश

शिवसेना से तकरार पर सोनिया गांधी की चुप्पी को लेकर कंगना ने पूछा- आप भी महिला हो, क्या आपको दु:ख नहीं हुआ | news-forum.in

मंबई | मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर (POK) से करने के बाद से ही कंगना और शिवसेना में तकरार जारी है। शिवसेना के साथ तकरार के बीच BMC द्वारा दफ्तर ध्वस्त किए जाने के बाद से ही फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत महाराष्ट्र सरकार और कांग्रेस के खिलाफ हमलावर है। कंगना रनौत ट्वीट के जरिए लगातार महाराष्ट्र सरकार को निशाने पर ले रही है और शिवसेना को सोनिया सेना बता रहीं हैं। कंगना ने अपने ताजा ट्वीट में इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी की चुप्पी पर सवाल करते हुए पूछा है कि क्या उन्हें महिला होने के नाते दु:ख नहीं हुआ।

 

संविधान में दिए सिद्धांतों को कायम रखने की अपील

कंगना ने शुक्रवार को अपने ट्वीट में कहा, ‘आदरणीय सोनिया गांधी जी, एक महिला होने के नाते क्या जिस तरह आपकी महाराष्ट्र की सरकार ने मेरे साथ व्यवहार किया, उससे आपको दु:ख नहीं हुआ ? क्या आप भारत रत्न डॉ. बाबा साहेब भीम राव आम्बेडकर द्वारा रचित संविधान के सिद्धांतों को कायम रखने के लिए अपनी सरकार से अनुरोध नहीं कर सकतीं ?

 

आप पश्चिम में पली बढ़ीं और भारत में रहतीं हैं

उन्होंने अपने एक और ट्वीट में लिखा, आप पश्चिम में पली बढ़ीं और भारत में रहतीं हैं। आपको महिलाओं के संघर्ष की जानकारी होगी। जब आपकी खुद की सरकार महिलाओं का उत्पीड़न कर रही है और कानून-व्यवस्था का मजाक उड़ा रही है, तो इतिहास आपकी चुप्पी पर न्याय करेगा। उम्मीद है कि आप इस मामले में दखल देंगी।’

 

 

बाला साहेब ठाकरे को मानतीं हैं आइकन

भले ही कंगना शिवसेना और उद्धव ठाकरे के खिलाफ लगातार हमलावर हों, मगर वह बाला साहेब ठाकरे को आइकन मानती हैं। कंगना ने एक वीडियो शेयर कर अपने एक और ट्वीट में लिखा, ‘महान बाला साहब ठाकरे मेरे पसंदीदा आइकन हैं। उनका सबसे बड़ा डर ये था कि शिवसेना एक दिन गठबंधन करेगी और कांग्रेस बन जाएगी। मैं जानना चाहती हूं कि आज बाला साहब अपनी पार्टी की ये स्थिति देखकर क्या महसूस कर रहे होंगे?’

 

 

कंगना ने वंशवाद का बताया था नमूना

इससे पहले गुरुवार को भी कंगना ने उद्धव ठाकरे पर हमला बोला था और उन्हें वंशवाद का नमूना बताया था। गुरुवार को अपने लेटेस्ट ट्वीट में कंगना ने कहा, ‘जिस विचारधारा पर बाला साहेब ठाकरे ने शिव सेना का निर्माण किया था, आज वो सत्ता के लिए उसी विचारधारा को बेच कर शिव सेना से सोनिया सेना बन चुके हैं। जिन गुंडों ने मेरे पीछे से मेरा घर तोड़ा, उनको सिविक बॉडी मत बोलो, संविधान का इतना बड़ा अपमान मत करो।’

 

 

मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से

बता दें कि मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर (POK) से करने के बाद से ही कंगना और शिवसेना में तकरार जारी है। बुधवार को उनके पहुंचने से पहले ही बीएमसी ने कंगना का दफ्तर ध्वस्त कर दिया। हालांकि, बाद में बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर रोक लगाने का आदेश दिया।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close