छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र 25 अगस्त से होगा शुरू, विशेष सत्र होगा हंगामेंदार | news-forum। in

रायपुर | छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच विधानसभा का मानसून सत्र मंगलवार यानी आज 25 अगस्त 2020 से शुरू होने जा रहा है। छत्तीसगढ़ में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बाद हो रहे इस विधानसभा सत्र को लेकर जमकर हंगामा होने के आसार दिख रहे हैं। पहले ही मानसून सत्र का ऐलान काफी दिनों बाद किया गया है। आमतौर पर विधानसभा का मानसून सत्र जुलाई में होता रहा है।

 

तीन दिन चलेगा सत्र

विधानसभा का यह सत्र 25 अगस्त से 28 अगस्त तक चलेगा। आगामी विधानसभा सत्र में कोरोना मरीजों की लगातार हो रही बढ़ोतरी, प्रदेश में कोरोना टेस्ट और रिकवरी में पिछड़ने से लेकर, अवैध शराब, अवैध उत्खनन, मवेशियों और हाथियों की लगातार मौत के मामलों पर सदन में जमकर हंगामा होने के आसार हैं। विधानसभा सत्र के पहले दिन छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी समेत तमाम दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि दी जाएगी। इसके बाद बचे हुए 3 दिनों में स्थगन प्रस्ताव को लेकर रणनीति बनाने विधानसभा में ही भाजपा विधायक दल की बैठक होगी। आज श्रद्धांजलि सभा के बाद इस दिन की कार्यवाही स्थगित कर दी जाएगी। ऐसे में चर्चा के लिए 26, 27 और 28, तीन दिन ही बच पाएंगे। इस दौरान विपक्ष के पास किसानों से लेकर कोरोना वायरस के बढ़ते आंकड़ों के मुद्दे हैं।

 

विधानसभा सत्र की तैयारियां

कोरोना संक्रमण के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए मानसून सत्र की तैयारियां की गई हैं। इसके लिए विधायकों से लेकर विधानसभा में कार्यरत अधिकारियों और कर्मचारियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। विधानसभा में 2 सीटों के बीच कांच की एक दीवार बनाई गई है। सदन के अंदर विधायकों के लिए एक तरह का केबिन बनाया गया है, जिससे एक विधायक का संपर्क दूसरे से नहीं होगा। विधानसभा परिसर के सैनिटाइजेशन और परिसर में प्रवेश द्वार के साथ ही तमाम सार्वजनिक जगहों पर हैंड सैनिटाइजर रखा गया है।

 

पत्रकारों व आम लोगों के प्रवेश पर रोक

मानसून सत्र में पत्रकारों और आम लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। बजट सत्र के दौरान अंतिम दिनों में भी इस तरह का प्रयोग किया गया था। विधानसभा परिसर में किसी भी बाहरी व्यक्ति को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इस दौरान विधायकों के समर्थक विधानसभा नहीं आ पाएंगे। विधानसभा की हर कार्यवाही के बाद और हर रात सदन को सैनिटाइज किया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग और नगरीय प्रशासन विभाग को अलर्ट किया गया है।

 

2 दिन में लगे 579 प्रश्न

विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर लंबे समय से चल रही अटकलों के बाद आखिरकार सत्र को लेकर अधिसूचना जारी कर दी गई थी। इसके बाद मानसून सत्र को लेकर विधायकों ने भी तैयारी शुरू कर दी है। 2 दिन में ही विधायकों ने कुल 579 प्रश्न लगा दिए हैं। इसमें तारांकित प्रश्नों की संख्या 304 और अतारांकित प्रश्नों की संख्या 275 है। ऐसे में विपक्ष भी सवाल उठा चुका है कि चार दिनों का मानसून सत्र प्रदेश की तमाम घटनाओं और कार्यकालापों की चर्चा के लिए काफी कम होगा।

 

विधानसभा में दिनों के हिसाब से लगे प्रश्न

  • 25 अगस्त : सामान्य प्रशासन, वित्त और ऊर्जा, खनिज साधन, जनसंपर्क, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी, विमानन, सार्वजनिक उपक्रम, जन शिकायत निवारण, वन, आवास एवं पर्यावरण, परिवहन, विधि एवं विधाई कार्य, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, ग्राम उद्योग
  • 26 अगस्त: पंचायत एवं ग्रामीण विकास, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, 20 सूत्री कार्यान्वयन, वाणिज्य कर, गृह, जेल, लोक निर्माण, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व पर्यटन, आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विकास, स्कूल शिक्षा और सहकारिता
  • 27 अगस्त : वाणिज्य एवं उद्योग, वाणिज्य कर आबकारी, नगरीय प्रशासन एवं विकास, श्रम विभाग, उच्च शिक्षा, कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, खेल एवं युवा कल्याण
  • 28 अगस्त : कृषि एवं प्रौद्योगिकी, पशुधन विकास, मछली पालन, जल संसाधन, आया कट, संसदीय कार्य महिला एवं बाल विकास, समाज कल्याण, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, वाणिज्य कर, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण, योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी और संस्कृति विभाग।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close