छत्तीसगढ़

‘गोधन न्याय योजना’ से प्रसन्न लता भोई ने मुख्यमंत्री को उपहार स्वरूप भेंट किए 200 रुपए

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य में गौमाता के सेवा-जतन के लिए जनसामान्य को प्रेरित एवं प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से शुरू की गई ‘गोधन न्याय योजना’ से प्रसन्न होकर 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला श्रीमती लता भोई ने आज मुख्यमंत्री निवास कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को आशीर्वाद देने के साथ ही उन्हें अपनी ओर से 200 रुपए उपहार स्वरूप भेंट किए। श्रीमती लता भोई महासमुंद जिले के सुदूर सीमावर्ती गांव जंगलबेड़ा की रहने वाली है। गोधन न्याय योजना को वह गौमाता के सेवा-जतन और ग्रामीणों, किसानों और पशुपालकों की आय को बढ़ाने वाली योजना मानती हैं। श्रीमती लता भोई इससे पूर्व गोधन न्याय योजना से प्रभावित होकर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को महासमुंद जिले के जनप्रतिनिधियों के माध्यम से आशीर्वाद एवं 50 रुपए उपहार स्वरूप भिजवाए थे।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के विशेष आमंत्रण पर श्रीमती लता भोई अपने पुत्र श्री अकबर भोई के साथ आज मुख्यमंत्री निवास कार्यालय आईं थीं। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से मुलाकात के दौरान उन्होंने गोधन न्याय योजना के लिए उन्हें आशीर्वाद देने के साथ ही प्रसन्नतापूर्वक अपनी ओर से 200 रुपए उपहार स्वरूप मुख्यमंत्री को भेंट किए। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर श्रीमती भोई को अपनी ओर से उपहार भेंट किए। इस अवसर पर कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरीश देवांगन तथा नागरिक आपूर्ति निगम के चेयरमेन श्री रामगोपाल अग्रवाल सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि गांव, गरीब और किसानों की स्थिति में बदलाव आए। किसानों और ग्रामीणों की आमदनी बढ़े इसके लिए उनकी सरकार लगातार प्रयास कर रही है। गौठानों को हम आजीविका केन्द्र के रूप में विकसित कर रहे हैं, ताकि ग्रामीण, स्थानीय स्तर पर रोजगार व्यवसाय अपनाकर स्वावलंबी बन सकें। उन्होंने गोधन न्याय योजना को ग्रामीणों और किसानों की बेहतरी की योजना बताते हुए कहा कि इससे उनकी आय बढ़ेगी और फसलों का खुली चराई के कारण होने वाला नुकसान रूकेगा। वर्मी कम्पोस्ट खाद से खेत की स्थिति में सुधार होगा। खेती-किसानी की लागत कम होगी। श्रीमती भोई ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री बघेल ने किसानों, गरीबों और ग्रामीणों का ध्यान रखा है। किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम देने के साथ ही कर्ज माफी कर बड़ी राहत दी है। उन्होंने गौमाता के सेवा-जतन के लिए गांव-गांव में गौठानों का निर्माण के साथ ही गोधन न्याय योजना की सराहना की। उन्होंने कहा कि इससे गौमाता के संरक्षण एवं संवर्धन को बढ़ावा मिलेगा। किसानों और पशुपालकों की आमदनी बढ़ेगी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जंगलबेड़ा गांव के विकास के कार्यों और खेती-किसानी की स्थिति के संबंध में भी क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि श्री आलोक चन्द्राकर, श्री मधुबन भोई, श्री राजेन्द्र चन्द्राकर, श्री सौरभ गोयल, श्री पप्पू अग्रवाल, श्री सागर डोंगरे, श्री देवेश साहू, श्री किशन पटेल सहित सरपंच श्री रामलाल विशाल से जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सरपंच श्री विशाल द्वारा विकास कार्यों की मांग के संबंध में सौंपे गए ज्ञापन पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close