देश-विदेश

शोध : IIT, AIIMS का दावा, मानसून और सर्दियों में कोरोना पहुंच सकता है अपने चरम पर

नई दिल्ली। भारत में तेजी से संक्रमण के बीच IIT, AIIMS ने अपने शोध में एक चौंकाने वाला दावा किया हे। IIT, AIIMS की मानें तो मानसून और सर्दियों में कोरोना वायरस अपने पूरे चरम पर रहेगा। आईआईटी भुवनेश्वर और एम्स के साझा रिसर्च में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण मानसून और सर्दियों में और भी काफी तेजी से बढ़ेगा। रिसर्च के अनुसार पारा गिरने के साथ ही संक्रमण की दर में काफी बढ़ोतरी होगी और यह अपने चरम पर पहुंच सकता है।

  तापमान में गिरावट से संक्रमण बढ़ेगा  

रिसर्च के मुखिया आईआईटी भुवनेश्वर में ओसियन एंड क्लाइमेटिक साइंसेज के असिस्टेंट प्रोफेसर वी विनोज का कहना है कि बारिश, तापमान में गिरावट और वातावरण ठंडा होने के बाद देश में कोरोना संक्रमण की दर काफी तेज हो सकती है। इस रिपोर्ट का नाम “COVID-19 spread in India and its dependence on temperature and relative humidity” है। रिपोर्ट में 28 राज्यों में अप्रैल और जून माह के बीच कोरोना संक्रमण के आंकड़ों की तुलना की गई है। डॉ. विनोज ने बताया कि शोध में यह भी बात सामने आई है कि तापमान बढ़ने पर कोरोना का ट्रांसमिशन कम होगा।

  आर्द्रता से भी बढ़ेगा संक्रमण  

डॉ. विनोज के अनुसार एक डिग्री पारा बढ़ने पर 0.99 फीसदी संक्रमण के मामलों में कमी दर्ज की गई। शोध में यह बात भी सामने आई है कि आर्द्रता में बढ़ोतरी से संक्रमण की दर कम होती है और संक्रमण के मामलों के दोगुना होने की दर 1.8 दिन हो जाती है। हालांकि शोधकर्ताओं का कहना है कि यह शोध उच्च आर्द्रता की शुरुआत के समय नहीं की गई है, लिहाजा इसके सटीक परिणाम जानने के लिए और शोध की जरूरत है।

  संक्रमितों की संख्या 10 लाख के पार  

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले अब 10 लाख को पार कर चुका है। मौजूदा समय में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 10.8 लाख तक पहुंच चुका है। जबकि संक्रमण से अबतक 26816 लोगों की जान जा चुकी है। अच्छी बात यह है कि कोरोना वायरस से ठीक होने वालों की संख्या में काफी तेजी से इजाफा हो रहा है। 6.77 लाख कोरोना संक्रमित ठीक होकर अपने घर पहुंच चुके हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close