छत्तीसगढ़

मरवाही में अनुविभागीय दंडाधिकारी कार्यालय का शुभारंभ, निमधा में खुलेगा उप तहसील, मरवाही को मिलेगा नया तहसील कार्यालय भवन

एक करोड़ 67 लाख के विकास कार्यों का भूमिपूजन, एसडीएम कार्यालय खुलने से मरवाही की जनता को मिली नई सौगात: डॉ. चरणदास महंत

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही । विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत के मुख्य आतिथ्य, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन तथा जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल की अध्यक्षता तथा सांसद श्रीमती ज्योत्स्ना महंत के विशिष्ट आतिथ्य में आज मरवाही में आयोजित कार्यक्रम में अनुविभागीय दंडाधिकारी कार्यालय मरवाही का शुभारंभ किया गया।

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि मरवाही के लिए यह अत्यंत हर्ष एवं गौरव का क्षण है कि मरवाही में अनुविभागीय दंडाधिकारी कार्यालय का शुभारंभ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला बनाने की बहुप्रतीक्षित मांग को छत्तीसगढ़ की सरकार ने पूरा किया और आज एसडीएम कार्यालय के शुभारंभ से मरवाही के निवासियों को एक नई सौगात मिली है। अब मरवाही के निवासियों को राजस्व प्रकरणों के निराकरण सम्बन्धी कार्यों के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा और उनका कार्य शीघ्रता से हो पायेगा। उन्होंने कहा कि एसडीएम कार्यालय स्थापित हो जाने से मरवाही क्षेत्र के विकास को गति मिलेगी।

प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि यह अत्यंत हर्ष का विषय है कि मरवाही अनुविभागीय कार्यालय की शुभारंभ से मरवाही क्षेत्र की जनता की लंबे समय से की जा रही मांग को पूरा करने का सौभाग्य उन्हें प्राप्त हुआ है। मरवाही क्षेत्र संसाधनों की दृष्टि से समृद्ध है तथा यहां औषधियों, वन्य संपदा की विविधता है। अनुविभागीय दण्डाधिकारी कार्यालय के प्रारंभ होने से निश्चित तौर पर क्षेत्र के विकास को गति मिलेगी। उन्होंने निमधा में उप तहसील प्रारंभ करने की घोषणा की तथा मरवाही में नया तहसील कार्यालय निर्माण की घोषणा भी की।

सांसद श्रीमती ज्योत्स्ना महंत ने जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के गठन की क्षेत्रवासियो की मांग को राज्य सरकार ने पूर्ण किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा दी गई इस सौगात से नए जिले में विकास के दरवाजे खुले है। उन्होंने कहा कि एसडीएम कार्यालय के शुभारंभ से विकास की गति तीव्र होगी।

कलेक्टर डोमन सिंह ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कुछ दिन पूर्व मरवाही भ्रमण के दौरान नए अनुविभाग की घोषणा की थी। जिसका बहुत जल्द अमलीजामा पहनाकर आज शुभारंभ हो रहा है। वन संपदा से परिपूर्ण एवं नैसर्गिक सुन्दरता की हरी चादर ओढ़े इस अनुविभाग के अंतर्गत एक उप तहसील के साथ-साथ 04 राजस्व निरीक्षक मंडल, 34 पटवारी हल्के एवं 86 राजस्व ग्राम मरवाही अनुविभाग बनने पर शासकीय कार्यों में कसावट आएगी तथा क्षेत्र के सभी वर्ग के लोग लाभान्वित होंगे।

इस अवसर पर एक करोड़ 67 लाख 78 हजार रूपए के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया गया। जिसमें 89 लाख 91 हजार रूपए की लागत से 9 ग्राम पंचायतों में उचित मूल्य की दुकान, 24 लाख 12 हजार रूपए की लागत से 4 ग्राम पंचायतों में 12 नग चबूतरा निर्माण, 32 लाख 25 हजार रूपए की लागत से 5 ग्राम पंचायतों में आंगनबाड़ी केन्द्र निर्माण, 21 लाख 50 हजार की लागत से 10 ग्राम पंचायतों में रंगमंच निर्माण शामिल हैं।

इस अवसर पर ग्रामीणों को शासन की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहीमूलक सामग्रियों का वितरण किया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 5 हितग्राहियों को मच्छरदानी वितरण, उद्यान विभाग द्वारा 5 हितग्राहियों को फलदार पौधे, खाद्य विभाग द्वारा 10 हितग्राहियों को नवीन राशनकार्ड वितरण, स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 6 छात्र-छात्राओं को निःशुल्क सायकल एवं पाठ्यपुस्तक वितरण, समाज कल्याण विभाग द्वारा 14 हितग्राहियों को श्रवण बाधित यंत्र, व्हील चेयर, छड़ी एवं वाकर, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 6 हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास, 5 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री पेंशन, राजस्व विभाग द्वारा 4 किसानों को किसान किताब, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 5 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को गैस सिलेण्डर, 10 हितग्राहियों को वन अधिकार पत्र का वितरण किया गया। इस अवसर पर सोनहत विधायक गुलाब कमरो सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा अधिकारीगण एवं बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close