छत्तीसगढ़

ट्रेन के पहिए से काटने पटरी पर रखा सरिया, टला बड़ा हादसा | news-forum.in

बिलासपुर | लटिया- जयरामनगर के बीच अप लाइन में जानबूझकर सरिया व लोहा रखने वाले को आरपीएफ ने 22 दिन बाद गिरफ्तार कर लिया है। वह रविवार की रात दोबारा लोहा चोरी करने के लिए पहुंचा था। आरोपी ने सरिया व अन्य लोहे को ट्रेन के पहिए से काटने के लिए रखा था। उसकी इस करतूत से बड़ा हादसा हो सकता था। आरोपी के खिलाफ रेलवे अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

 

15 अगस्त को रेल ट्रैक पर रखा था लोहा

घटना 15 अगस्त की है। रात तीन बजे के लगभग मालगाड़ी के ड्राइवर ने कंट्रोल को जानकारी दी कि पटरी पर किसी ने लोहे को रख दिया था। सरिया का एक टुकड़ा इंजन के कैटल गार्ड में टकराते हुए दूर छिटक गया। पहिए से चिंगारी निकली और कुछ दूर जाकर मालगाड़ी खड़ी हो गई। बाकी लोहे मौके पर ही पड़े रहे।

 

आरपीएफ में मची खलबली

जानकारी मिलते ही आरपीएफ में खलबली मच गई। आनन-फानन में उप निरीक्षक बिशन सिंह बल सदस्यों को साथ लेकर घटना स्थल पर पहुंचे। जांच के बाद पटरी पर रखे लोहे को जब्त करते हुए अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला पंजीबद्ध कर लिया गया। आरोपी की तलाश की जा रही थी।

 

घेराबंदी कर आरपीएफ ने आरोपी को पकड़ा

रविवार की रात एक व्यक्ति संदिग्ध अवस्था में पश्चिम दिशा की ओर बढ़ते हुए दिखा। घेराबंदी कर उसे पकड़ा गया। वह लोहा चोरी करने के लिए आया था। उसे पकड़कर पूछताछ की गई। इस पर उसने अपना नाम मनोज कुमार सतनामी पिता कुंजराम सतनामी (22) निवासी जांजगीर जिला अंतर्गत कोटमी सोनार बताया। साथ ही उसने यह बताया कि 15 अगस्त को उसी ने पटरी पर लोहा रखा था। आरोपी ने बताया कि लोहे व सरिया को काटकर ले जाना चाहता था। इतना ही नहीं उसने लोहे में पत्थर भी रख दिया। आरोपी को रेलवे न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close