छत्तीसगढ़

बस्तर में दोहरी लड़ाई लड़ रहे जवान, कोरोना ने बढ़ाई अधिकारियों की चिंता | news-forum.in

जगदलपुर |  बस्तर में तैनात सुरक्षाबलों के लिए कोरोना महामारी मुसीबत का सबब बन गई है। छुट्टी से वापस लौट रहे अधिकतर जवान कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद अफसरों की चिंता खासी बढ़ गई है। खासकर सीआरपीएफ और बीएसएफ के अधिकांश जवान कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। वहीं हाल ही में दंतेवाड़ा जिले में तैनात एक जवान की कोरोना से मौत होने के बाद सुरक्षा बलों के अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है। हालांकि बस्तर आईजी का कहना है कि बस्तर में तैनात जवान नक्सलियों के साथ-साथ कोरोना से लड़ने के लिए पूरी सावधानी बरत रहे हैं और अपना पूरा ख्याल भी रख रहे हैं।

 

ज्यादातर मरीज बस्तर में तैनात

बस्तर संभाग में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिसमें ज्यादातर मरीज बस्तर में तैनात सुरक्षाबल के जवान हैं, जिनमें CRPF, CISF, BSF के जवान शामिल हैं। कोरोना संक्रमित पाए गए अधिकांश जवान छुट्टी से लौटकर ड्यूटी में वापस पहुंच रहे हैं। आंकड़ों के मुताबिक पूरे बस्तर संभाग में अब तक 400 से अधिक जवान कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिनमें कांकेर, बीजापुर और सुकमा जिले के अधिकांश जवान शामिल हैं।

 

विभाग की बढ़ी चिंता

बस्तर संभाग में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमित जवानों की संख्या को देखते हुए पुलिस विभाग की चिंता भी बढ़ गई है। क्योंकि बस्तर में जवान पहले ही दोहरी लड़ाई लड़ रहे हैं। अंदरूनी इलाकों में नक्सलियों से तो वहीं ग्रामीणों के बीच विश्वास की लड़ाई और अब तीसरी लड़ाई कोरोना से, ऐसे में पुलिस विभाग के आला अधिकारी बस्तर में तैनात इन जवानों को सुरक्षा और कोरोना से बचाव के लिए पूरी सावधानी बरतने को कह रहे हैं।

 

बरत रहे पूरी सावधानी : आईजी

आईजी का कहना है कि बस्तर में हजारों की संख्या में तैनात इन जवानों को कोरोना से बचाव के लिए पूरी सावधानी बरतने के साथ ही अपना पूरा ख्याल रखने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं। आईजी ने कहा कि छुट्टी से वापस लौट रहे जवानों को क्वॉरेंटाइन रहने के साथ ही पूरी गाइडलाइन का पालन करने को कहा जा रहा है। इस कोरोना महामारी के बीच भी जवान अपना मनोबल टूटने नहीं दे रहे हैं और कोरोना के साथ-साथ नक्सलियों से भी लोहा ले रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close