जानें और सीखें

क्या पालतू जानवरों से है कोरोना संक्रमण का खतरा, यहां पढ़ें क्या कहते हैं Expert …

कोरोना वायरस का प्रकोप देश-दुनिया में तेजी बढ़ता ही जा रहा है। भारत में अब तक कोरोना वायरस के 2,83,407 एक्टिव मामले हैं, वहीं इस संक्रमण से निजात पाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं ताकि इस वायरस से जल्द से जल्द राहत मिल सके। इसी के साथ कोविड-19 से बचाव के लिए मास्क, व्यक्तिगत हाइजीन, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद जरूरी है। वहीं कोरोना संक्रमण को लेकर तमाम सवाल जेहन में आते हैं।

उन्हीं में से एक सवाल यह है कि क्या पालतू जानवरों से कोरोना संक्रमण का खतरा होता है? इसे लेकर लोगों के मन में डर बैठ गया कि क्या वाकई कोरोना वायरस पालतू पशुओं में भी हो सकता है? इसी के साथ WHO  ने भी कहा है कि जब तक कोरोना वायरस का संक्रमण दुनियाभर में जारी है, तब तक अपने पालतू जानवर को किस करने, उन्हें गोद में लेने या उनके साथ खाने से बचा जाना चाहिए।

एक्सपर्ट बताते हैं कि पालतू पशुओं में अभी तक देखा जाए तो कोरोना पॉजिटिव केस सामने नहीं आए हैं लेकिन सावधानी और समझदारी के साथ कदम बढ़ाने की जरूरत है। यदि आपके घर में पालतू जानवर हैं तो आपको कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी है।

  • घर में पालतू जानवर है तो जाहिर-सी बात है कि आप उन्हें बाहर घुमाने भी ले ही जाते होंगे। लेकिन कोरोना काल में आप कुछ विशेष बातों का ध्यान रखें, जैसे जब आप अपने पेट्स को बाहर घुमाने ले जाएं तो पेट्स मास्क का इस्तेमाल करें। इसके बाद ही उन्हें बाहर ले जाएं।
  • यदि आप पेट्स मास्क का इस्तेमाल करते हैं, तो आपका डॉगी ऐसी चीजों के संपर्क में आने से बच जाएगा, जो उसे बीमार कर सकती हैं। इससे संक्रमण का खतरा भी कम हो जाएगा, क्योंकि ऐसे कई लोग हैं, जो इस्तेमाल किए हुए मास्क या ग्लव्स सड़कों पर यूं ही फेक देते हैं। यदि आपका डॉगी इसे सूंघता या चाटता है तो इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।
  • वहीं जब आप अपने पेट्स को छुएं तो हाथ जरूर धोएं। उन्हें खाना देने या छूने के बाद हाथ को साबुन से अच्छी तरह से वॉश करें तथा इसके बाद ही अन्य काम करें।
  • जब आप अपने पेट्स को बाहर से घुमाकर घर पर वापस लाएं तो हल्के गुनगुने पानी से उनके पैरों को अच्छी तरह साफ कर लें। इसके साथ ही मुंह को हल्के गुनगुने पानी से साफ करें। कोरोना काल के दौरान सिर्फ सावधानी ही आपको इस संक्रमण के संपर्क में आने से बचा सकती है।

पिछले कुछ वक्त में चिड़ियाघर की एक बाघिन और दो पालतू बिल्लियों में कोरोना के संक्रमण के बाद लोगों में इस बात का डर बैठ गया है कि पालतू जानवरों से भी कोरोना का संक्रमण फ़ैल सकता है? ‘द इकोनामिक टाइम्स’ में प्रकाशित खबर के मुताबिक न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर में एक बाघिन कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई है। अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में दो पालतू बिल्लियों के कोरोना पॉजिटिव होने की बात सामने आई है।  बताया जा रहा है कि उन्हें कोरोना का इंफेक्शन अपने घर या आस-पड़ोस के लोगों से हुआ है।

अमेरिका की सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने कहा, “अब तक इस बात के सबूत नहीं मिले हैं कि कोरोना वायरस का संक्रमण पशुओं से इंसान में हो रहा है।  अगर ऐसा एक-दो केस सामने आया भी हो तो यह रेयर मामला है।  हम नहीं चाहते कि लोग घबराएं या अपने पालतू जानवरों से डरना शुरू कर दें। ”

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बारे में कहा है कि दुनिया भर में इंसानों के संपर्क में आने की वजह से बहुत से पालतू जानवर कोरोना वायरस के टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं।

अगर सामान्य संक्रमण की बात करें तो इस तरह के पालतू जानवरों से उसी प्रजाति के दूसरे जानवर में कोरोनावायरस का संक्रमण फैल सकता है, लेकिन अब तक ऐसा देखने में नहीं आया है कि इन पालतू जानवरों से कोरोनावायरस का संक्रमण इंसान में हुआ हो।

कोविड-19 वास्तव में ड्रॉपलेट के माध्यम से फैलता है।  जब कोई कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति खांसता, छींकता या बोलता है तो उसके मुंह से जो छोटी-छोटी बूंदें निकलती हैं उसके माध्यम से कोरोनावायरस का संक्रमण फैलता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सलाह दी है कि जो भी व्यक्ति कोविड-19 से संक्रमित हैं या इसके खतरे से जूझ रहे हैं, उन्हें अपने पालतू जानवरों से दूर रहना चाहिए।  जो लोग पालतू जानवरों से दूर नहीं रह सकते, उन्हें भी साफ-सफाई के उच्च मानकों का पालन करना चाहिए।

इसमें हर बार अपने जानवर को छूने के बाद हाथ धोना, उन्हें खाना देने के बाद हाथ देना धोना या और भी किसी तरह उनके संपर्क में आने के बाद साबुन से हाथ धोने जैसे काम शामिल हैं।

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि जब तक कोरोनावायरस का संक्रमण दुनिया भर में जारी है तब तक अपने पालतू जानवर को किस करने, उन्हें गोद में लेने या उनके साथ खाने से बचा जाना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close